महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार की अनूठी परियोजना

के.के.पाठक

बहराइच।आज दिनांक 16.03.2022 को चाइल्ड लाइन द्वारा देहात समाज कार्य संगठन के तत्वधान में कोविड-19 के निर्देशों का पालन करते हुए ग्राम पंचायत डीहा के प्राथमिक विद्यालय डीहा ब्लॉक चितौरा जनपद बहराइच में एक खुली बैठक का आयोजन किया गया ।अरुण कुमार चौधरी ने बताया कि चाइल्ड लाइन 1098 महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार की एक परियोजना है जो 24 घंटे की राष्ट्रीय आपातकालीन निशुल्क फोन आउटरीच सेवा है। जिस का टोल फ्री नंबर 1098 है, यह निरंतर बेसहारा व मुसीबत में फंसे बच्चों की मदद करता है चाइल्ड लाइन जनपद बहराइच में विगत 11 वर्षों से कार्यरत है।

 ग्राम बाल संरक्षण समिति के संरचना के बारे में चर्चा करते हुए बताया कि इस समिति में 8 सदस्य होते हैं जिसके अध्यक्ष ग्राम प्रधान होते हैं तथा सचिव आंगनबाड़ी व अन्य सदस्य आशा, ए एन एम, ग्राम विकास अधिकारी और संबंधित विद्यालय के प्रधानाचार्य व दो अभिभावक तथा दो बाल प्रतिनिधि होते हैं ।

इस समिति को अपने ग्राम पंचायत में बच्चों से जुड़ी सभी प्रकार की समस्याओं पर 3 माह में एक बार बैठक कर उन समस्याओं पर उचित विचार विमर्श कर उनका निराकरण करना होता है। अर्जुन प्रसाद ने बच्चों को उनके अधिकारों के बारे में बताया की बच्चों की चार अधिकार होते हैं क्रमश जीने का अधिकार विकास का अधिकार सुरक्षा का अधिकार सहभागिता का अधिकार की जानकारी दी।काउंसलर अर्चना मिश्रा एवं तीन सदस्य कीर्ति राणा ने बच्चों के दो ग्रुप क्रमशः ग्रुप ए अनस प्रीति रोशनी करिश्मा रजनी मनोज कुमार तथा ग्रुप बा में अजीत कुमार पुरुषोत्तम हिमांशु रेखा कोमल बर्मा सोनाक्षी को सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता कराया जिसमें सही जवाब देने वाले बच्चों को चाइल्ड लाइन द्वारा पुरस्कृत कर जलपान कराया गया।

उपरोक्त कार्यक्रम में चाइल्ड लाइन से समन्वय दिव्यांशु चतुर्वेदी अर्जुन प्रसाद अवधेश मिश्रा मनीष यादव अरुण कुमार चौधरी विद्यालय की प्रधानाचार्य फरहत हुसैन सहायक अध्यापक विद्या सिंह वर्तिका सिंह पंचायत सहायक आरती आंगनबाड़ी सुशीला देवी ग्राम प्रधान रामराज व ग्रामवासी सहित बच्चों ने प्रतिभाग किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.